Inspirational Poems - Contribute Rhyming, Non Rhyming Poems

 

 

About contentwriter | Contact Us

Useful Articles

More Poems

Short Stories

Hire Our Writing Services

Know More About Our Services

Contact Us contact@contentwriter.in

Advertise With Us

Search Content Writer India 

 

 

समय

टिक-टिक-टिक घड़ी कह रही

जागो बच्चों सुबह हो रही

जल्दी अगर तुम जागोगे

स्वस्थ शरीर तुम पाओगे

देर करी जो उठने में

दिन भर खोया रोने में

तेज दिमाग गर पाना है

समय पर रोज उठ जाना है 

टिक-टिक-टिक घड़ी कह रही

चलो सो जाओ  सुबह हो रही

रात अगर तुम जल्दी सोए

उठने पर फिर नहीं तुम रोए

समय पर जो बिस्तर पर लेटे

सुख सपने ही तुमने देखे ।

Contributed By :   अमृता गोस्वामी जयपुर राजस्थान Freelance writer especially write articles/stories/poems related to kids. amrita_delhi@rediffmail.com

 

     

Web Content Writing Services, India | Contribute Your English & Hindi Poems

Sitemap

Home


Copyright contentwriter.in , contact@contentwriter.in